आईने के सामने

सामयिक मुद्दे पर लिखी गयी ब्यंगात्मक रचनाएं

73 Posts

260 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 6240 postid : 174

... क्या देंगे ?

Posted On: 24 Apr, 2012 में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

हम अपने प्यार का, उनको हिसाब क्या देंगे !

सवाल ही जो गलत है,  जवाब  क्या  देंगे !

पिलाते हैं जो खुशी, नाप के पैमानों   से,

वो भला हमको खुशी, बेहिसाब क्या देंगे ?

जलायी हो ना शमां, जिसने कभी राहों में,

हमें वो लाके भला,  आफताब क्या देंगे ?

बिछाए  जिसने सदा, राह  में  कांटे मेरी,

वो लोग हँस के मुझे, अब गुलाब क्या देंगे?

तरस रहे हैं जो खुद, मय के एक कतरे को,

एसे शाकी  हमें, आखिर  शराब  क्या देंगे?

मेरे लिए है जिन्हे , दुश्वार मुस्कुराना  भी,

वो ‘जानी’जान तुम्हें, दिल,शबाब क्या देंगे?

डा॰ सूर्याबाली को समर्पित

| NEXT



Tags:

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (7 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

7 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

yogi sarswat के द्वारा
April 30, 2012

तरस रहे हैं जो खुद, मय के एक कतरे को, एसे शाकी हमें, आखिर शराब क्या देंगे? श्री मनोज कुमार जी , नमस्कार ! क्या बात है ! आपने आदरणीय डॉ . बाली से सही मार्गदर्शन प्राप्त किया है ! बहुत खूब !

Mohd Haneef "Ankur" के द्वारा
April 25, 2012

भाई मनोज जी- लाजवाव ग़ज़ल………………………..भावात्मक————- अति सुन्दर. …………….. काव्यकृति. बधाई………………….. मेरा ब्लॉग भी देखिये. http://www.hnif.jagranjunction.com

April 25, 2012

jalayi na ho shama jisane kabhi rahon men, bhala wo hame lake, aaftab kya denge …….bahut khub dil men ghar kar gayi rachana…..

dineshaastik के द्वारा
April 25, 2012

मनोज  जी सूरज  जी का कोई अता पता तो बताइये। बहुत  दिनों बाद  आये, स्वागत  है आइये आइये। सुन्दर भावों को अभिव्यक्त करने की बधाई तो ले जाइये।

ANAND PRAVIN के द्वारा
April 24, 2012

हम अपने प्यार का, उनको हिसाब क्या देंगे ! सवाल ही जो गलत है, जवाब क्या देंगे !…………….सत्य वचन जो सवाल ही गलत हो उसका क्या जवाब मनोज भाई, नमस्कार बहोत दिनों बाद मंच पर आने पर आपको बधाई…………….

shashibhushan1959 के द्वारा
April 24, 2012

आदरणीय मनोज जी, सादर ! सबसे पहले तो ये बताइये की डाक्टर साहब हैं कहाँ ? उनसे नोंक-झोंक हुए बहुत दिन हो गया ! एक सुन्दर शिकवे-शिकायत करती रचना के लिए हार्दिक बधाई !

rekhafbd के द्वारा
April 24, 2012

मनोज जी ,सुदर भाव लिए यह कविता ,बहुत बढ़िया


topic of the week



latest from jagran